20 वर्षो से पुल की आस देख रहे ग्रामीणों ने लिया वोट बहिष्कार का फैसला - BiharDailyNow
   Breaking News

20 वर्षो से पुल की आस देख रहे ग्रामीणों ने लिया वोट बहिष्कार का फैसला

जितेन्द्र उपाध्याय
मोतिहारी। जैसे जैसे चुनाव की तारीख नजदीक आ रही है वैसे वैसे नेता व जनता आमने सामने आ रहे ह आ। एक ओर नेता किसी भी हथकंडे से लोगो से वोट लेना चाहती है वही जनता नेता जी से काम का हिसाब मांग रही है व सड़को पर उतर वोट बहिष्कार की धमकी दे रही है।ताज़ा मामला मोतिहारी के चिरैया के खड़तरी पंचायत की है जहां के हज़ारो ग्रामीणों ने पुल नही तो वोट नही के निर्णय के साथ नेताओ से दो दो हाँथ करने को उतारू हो गए हैं।
आपको सुनकर ये आश्चर्य होगा कि सुशाशन की इस सरकार में बिगत 25 वर्षो से एक गांव एक पुल के लिए तरस रहे है लेकिन अबतक किसी राजनेता ने चुनाव जीतने के बाद इसकी सुधि नही ली। बस दिया तो सिर्फ आश्वाशन और सिर्फ आश्वाशन।

आक्रोशित ग्रामीण

आपको ये भी जानकर आश्चर्य होगा कि उक्त पुल के नही बनने से एक ओर जहां हज़ारो ग्रामीणों को बाढ़ की समश्या का बहुत हद तक समाधान होगा बल्कि जिस जिला मुख्यालय आने के लिए यहां के ग्रामीणों को 25 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है। वहीं इसके बन जाने से इसकी दूरी मात्र 10 किलोमीटर रह जायेगी लेकिन प्रसाशनिक लापरवाही व राजनीतिक उदासीनता के कारण इस क्षेत्र के लोग प्रत्येक साल बाढ़ की त्रासदी तो झेलते ही है साथ में आवागमन में भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है लेकिन किसी भी राजनेता ने इस पुल के बनने के लिए प्रयास नही किया है। हा वादा जरूर किया है।

वहीं अब ग्रामीणों ने भी ठान लिया है कि किसी भी कीमत पर इस बार वे लोग वोट डालने नही जायेगे व नेताओ की खबर भी लेंगे। आपको बता दे कि इस पंचायत में लगभग 8 हज़ार की आबादी है व अगर बगल के पंचायत के लोगों ने भी इस मुहिम में अपनी सहमति दे दी तो किसी भी राजनेता के लिए आने वाले चुनाव में भारी पड़ सकता है व प्रसाशन के लिए भी एक बड़ी चुनौती होगी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply