बिहार में सवा लाख करोड़ में सिर्फ 1559 करोड़ का काम करा सकी नीतीश सरकार - BiharDailyNow
   Breaking News

बिहार में सवा लाख करोड़ में सिर्फ 1559 करोड़ का काम करा सकी नीतीश सरकार

कांग्रेस का मोदी-नीतीश पर बड़ा हमला
एक-एक गिनाई बिहार में एनडीए सरकार की नाकामियां
पटना। राजद के साथ बिहार में फिर से सत्ता की उम्मीद में बैठी कांग्रेस ने केन्द्र और राज्य की एनडीए सरकार पर बड़ा हमला किया है। पार्टी नेता रणदीप सूरजेवाला ने बिहार में नीतीश के विकास के दावों की पोल खोलते हुए कहा कि बिहार के विभिन्न कार्य के लिए नीतीश सरकार को सवा लाख करोड़ से ज्यादा का पैकेज मिला है, लेकिन नीतीश सिर्फ 1559 करोड़ का काम ही करा सकें। यह उनके विकास की असली सच्चाई है।

रणदीप सूरजेवाला ने विशेष रूप से बिहार में सड़क और पुल निर्माण को लेकर परिवहन मंत्रालय की रिपोर्ट का हवाला दिया। उन्होंने कहा कि बिहार के एनएच और पुल निर्माण के लिए केंद्र से 47 योजनाओं को मंजूरी मिली है। जिसके लिए 50 हजार करोड़ से भी ज्यादा का बजट स्वीकृत है। लेकिन इन 47 योजनाओं में 27 पर काम अभी तक पूरा नहीं हो सका है। जमीन नहीं मिलने के कारण 17 का प्रस्ताव भी तैयार नहीं किया जा सका है। सूरजेवाला ने आरोप लगाया कि बिहार के मनिहारी से झारखंड से साहेबगंज के बीच बननेवाले 2000 करोड़ की पुल को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। इसी तरह विक्रमशिला पुल के समानांतर बननेवाले पुल की डीपीआर तैयार नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने अपनी कलम से बिहार को सालों पीछे कर दिया है। उनके कार्यकाल में जो भी उद्योग थे वह चौपट हो गए। अब एक बार फिर से जुमलेबाज औ धोखेबाज बिहार के लोगों को ठगने की तैयारी कर रहे हैं।

श्रीराम को भी दिया धोखा
सूरजेवाला ने भाजपा पर आरोप लगाया कि उन्होंने श्रीराम को भी ठगने का काम किया है। कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी सरकार के पास रामायण सर्किट बनाने के लिए100 करोड़ का प्रस्ताव भेजा गया था, लेकिन पहले यह राशि घटाकर 37 करोड़ की गई। अब यह राशि भी देने से इनकार कर दिया गया है। इसी तरह सीतामढ़ी में सीता राम के नाम पर म्यूजियम बनाने को योजना को भी ठंढ़े बस्ते में डाल दिया गया है।

युवाओं को ठगने का किया काम
बिहार के युवाओं को रोजगार देने के लिए मोदी सरकार ने कौशल विकास विवि शुरु करने की घोषणा की थी, लेकिन इस पर कोई काम नहीं हुआ और अब इसे बिहार से हटाकर वाराणसी शिफ्ट कर दिया गया है। यह बिहार के युवाओं के साथ धोखा है। इसी तरह भागलपुर में भागलपुर में सेंट्रल यूनिवर्सिटी सिर्फ इसलिए नहीं खोला जा सका, क्योंकि नीतीश ने जमीन उपलब्ध कराने से इनकार कर दिया। नीतीश ने कहा कि 500 करोड़ के विवि के लिए जमीन पर 1500 करोड़ खर्च नहीं किया जा सकता है। सूरजेवाला ने कहा कि एनडीए पुरानी बातों पर लोगों से वोट मांग रही है, हम आनेवाले भविष्य के लिए वोट मांग रहे हैं। तेजस्वी युवा हैं और हमारे पास अनुभव है, दोनों मिलकर बेहतर सरकार बनाएंगे।

Spread the love
  • 9
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply