मिथिला लोकपर्व सामा चकेवा की विदाई आज - BiharDailyNow
   Breaking News

मिथिला लोकपर्व सामा चकेवा की विदाई आज

 

मिथिला अपनी परंपरा के साथ लोक संस्कृति और त्योहार के लिए भी प्रसिद्ध है। छठ पर्व समाप्त होने के साथ ही सामा चकेवा पर्व की शुरुआत हो जाती है। मिथिलांचल में भाइयों के कल्याण के लिए बहनें यह पर्व मनाती हैं।

बता दें सामा चकेवा त्योहार में महिलाएं 7 दिनों तक सामा चकेवा, चुगला और दूसरी मूर्तियां बनाकर उन्हें पूजती हैं। इसकी चर्चा पुराणों में भी है.सामा चकेवा की समाप्ति कार्तिक मास के पूर्णिमा के दिन होती है। इस पर्व के दौरान बहनें सामा चकेवा, चुगला, सतभैया को डलिया में सजाकर पारंपरिक लोकगीत के जरिए भाइयों के लिए मंगल कामना करती हैं।

पूर्णिमा के अवसर पर आज भाई-बहन के स्नेह का प्रतीक सामा चकेवा के मूर्ति का विसर्जन होगा। सूर्योपासना का महापर्व छठ समाप्ति के बाद पूर्णिमा तक खेले जाने वाला सामा चकेवा की विधि-विधान के साथ पूजा के बाद रविवार को सामा चकेवा की विदाई कर नदियों में प्रवाहित किया जाएगा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply