तन से स्वस्थ रहने के लिए जरूरत है स्वस्थ मन की - BiharDailyNow
   Breaking News

तन से स्वस्थ रहने के लिए जरूरत है स्वस्थ मन की

स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन का निवास होता है ये तो आपने सुना ही होगा। लेकिन सच तो ये है कि स्वस्थ मन में ही स्वस्थ तन का निवास होता है। जी हां तन और मन का गहरा संबंध होता है। अक्सर ये देखा गया है कि हम अपने तन के लिए तो हमेशा जागरूक रहते हैं, लेकिन जैसे ही बात मन यानी ​की मानिसक स्थिति की आती है तो हम इसेे नजरअंदाज करने लगते है। तो ऐसे में आज विश्व मानसिक स्वास्थ्य के दिन हम बात ​करेंगे हमारे मन की और जानेंगे आखिर विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस क्यों मनाया जाता है।

क्या होता है मानसिक रोग

हमारे शरीर से कहीं ज्यादा अधिक जटिल हमारा मन होता है। शायद यही कारण है के हम अपने मन को समझने में अक्सर भूल करते हैं। अगर बात करें मानसिक रोग की तो ऐसे विकार जो हमारी मनोदशा, सोच और व्यवहार को प्रभावित करते हैं वो मानसिक रोग के दायरे में आता है। वैसे तो मानसिक रोग के आयाम की अगर बात करें तो इसका दायरा बहुत बड़ा है, लेकिन समय पर लक्षण समझ आ जाए तो इस बीमारी से आसानी से लड़ा जा सकता है।

क्या हैं मानसिक बीमारी के लक्षण?

कई बार देखा गया है हम मानसिक बीमारी के लक्षणों को समझ नहीं पाते और कई प्रकार के समस्याओं का सामना ​करना पड़ता है। इन सभी चीजों को रोका जा सकता है और हालात संभाले जा सकते हैं। मानसिक बीमारी का इलाज मुमकिन है, पर जरूरत है बीमारियों को पहचानने की। तो आइए जानते हैं क्या है इसके लक्षण:

—अगर आपको याद नहीं कि आप आखिरी बार खुश कब थे।
—बिस्तर से उठने या नहाने जैसी डेली रुटीन की चीजें भी आपको टास्क लगती हैं।
—आप लोगों से कटने लगे हैं।
—आप खुद से नफरत करते हैं और अपने आप को खत्म कर लेना चाहते हैं।

क्यों मनाया जाता है विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस

आज दुनियाभर में लोग डिप्रेशन या अन्य मानसिक बीमारियों का बड़ी संख्या में शिकार हो रहे हैं। देखा गया है लोग इस विषय पर खुलकर बात भी करने से हिचकते हैं। ऐसे में विश्व को मानसिक स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से यह दिन मनाया जाता है।

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस 2020 की थीम

हर साल विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के लिए एक थीम रखी जाती है। इस बार की थीम – “सभी के लिए मानसिक स्वास्थ्य: अधिक से अधिक निवेश, ज्यादा से ज्यादा पहुंच” रखी गई है। इसी थीम पर पूरे विश्व में कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

इन बातों का रखे ध्यान

अच्छी जीवनशैली रखे

अपने आहार पर पूरा ध्यान दें। अच्छा खाए-पिए, रोज़ाना अच्छे से व्यायाम करें। शराब, ड्रग्स और सिगरेट पर पूरी तरह से रोक लगा लें।

तनाव को कम करें

तनाव का सीधा असर आपके स्वास्थ्य पर पडता है, और ज्यादा असर आपके मानसिक स्वास्थ्य पर। तनाव को कम करने के लिए काम से ब्रेक लें, छुट्टियां मनाये। जरुरत पड़ने पर कॉउंसलिंग का भी सहारा लें।

खुद के लिए निकाले समय

स्वयं के लिए अलग समय निकालें, अपनी भावनात्मक जरूरतों को समझें, अच्छी किताबें पढ़ें, खुद को संतुष्ट करें। जिन दोस्तों, परिजनों, साथियों व पड़ोसियों के साथ अच्छा लगता हो उनसे जरूर मिले।

पर्याप्त नींद लें 

मानसिक रुप से स्वस्थ रहने के लिए पर्याप्त नींद लें। रोजाना कम से कम 6 से 7 घंटे की नींद लें।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply