कृषि बिल का क्यों किसान कर रहे विरोध - BiharDailyNow
   Breaking News

कृषि बिल का क्यों किसान कर रहे विरोध

कृषि विधेयक बिल के खिलाफ में एक तरफ जहां लोग धरना प्रर्दशन कर रहे। वहीं सरकार का कहना है कि यह बिल किसी भी तरह से ​किसान के विरोध में नहीं है। मौजूदा वक्‍‍‍त में कृषि विधेयकों को लेकर हंगामा मचा है। किसानों के साथ-साथ विपक्षी दलों के नेता इनके खिलाफ में सड़कों पर हो रहे प्रदर्शनों में शामिल हो रहे हैं। चलिए आम भाषा में जानते है कि आखिरकार है क्या इस विधेयक में और क्यों इस विधेयक को लेकर कृष नाराज है। कृषिक बिल में तीन विधेयक क्या-क्या है और इन तीनों विधेयक में क्या-क्या कहा गया हैे और किसानों को किस तरह कि सुविधा दी गई है।

1. कृषक उपज व्यापार एंव वाणिज्य विधेयक यानी संवर्धन एवं सरली करण विधेयक 2020  – यह विधेयक कृषि उपज विपरण समिति परिसर के बाहर अतिरिक्त व्यापार की अनुमति देता है। इस विधेयक से किसानों के पास ढ़ेरो विकल्प उपलब्ध होंगे। किसान प्रत्येक्ष रूप से खाद उत्पाद कंपनियों के साथ समझौते में प्रवेश कर सकते हैं।

2. कृषक कीमत आश्वासन औेर कृषि सेवा कर करार विधेयक यानी शक्तिकरण व संरक्षण विधेयक 2020  – इस के अंतर्गत किसान के पास फसल के मूल्य गारंटी की सुविधा होगी। किसी कारण से मूल्य भुगतान नहीं होने पर जुर्माने का प्रावधान है। प्रत्येक व्यापारी को तय तिथि के अनुसार या तय तिथि के तीन दिन के भीतर किसान का भुगतान करना होगा। वहीं न्यूनतम समर्थन मूल्य की संरचना में इस बिल का कोई असर नहीं पड़ेगा। किसान का कोई भी बकाया राशि होने की स्थिति में भी किसान की जमीन पर कोई कार्रवाही नहीं की जाएगी।

3.अनावश्यक वस्तु व संशोधन विधेयक 2020  – इस बिल में अनाज, दलहन, तिलहन, खाद तेल, प्याज, आलू को अवाश्यक वस्तुओं की सूचि से हटाने का प्रावधान है।

क्यों कर रहे हैं कृषि इस बिल का विरोध

किसानों का मानना है कि इस ​नए कृषि बिल से किसानों को नहीं कॉपरेट हाउस और बड़े पॅूजीपतियों को होगा। उनका सारा मेहनत और परिश्रम अब बेकार हो जाएगा और बड़े पूंजीपतियों के हाथ में फायदे और किसानों के हाथ घाटे का सौदा लगेगा। इसके साथ ही किसानों का कहना है कि अगर बाजार में उन्हें अच्छी कीमत उनके फसल की मिल ही जाती तो वो बाहर ही क्यों जाएं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply